December 9, 2023 7:42 pm

Advertisements

Sanskriti IAS कोचिंग सेंटर हिंदी माध्यम के छात्रों के लिए सर्वश्रेष्ठ क्यों है?

♦इस खबर को आगे शेयर जरूर करें ♦

Sanskriti IAS
Sanskriti IAS
Samachar Drishti

Samachar Drishti

जैसा कि आप जानते हैं अत्यधिक प्रतिस्पर्धी यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा(Union Public Service Commission) की तैयारी के लिए संपूर्ण मार्गदर्शन और प्रभावी कोचिंग की आवश्यकता होती है। हालांकि, हिंदी माध्यम के छात्रों के लिए, एक ऐसा संस्थान खोजना चुनौतीपूर्ण हो सकता है जो विशेष रूप से उनकी आवश्यकताओं को पूरा करता हो। लेकिन हमने प्रयागराज को एक्स्प्लोर करते हुए पता लगाया है कि UPSC के छात्रों के बीच कौन-सा संस्थान प्रचलित है। हम बात कर रहे हैं Sanskriti IAS कोचिंग सेंटर की जो यूपीएससी परीक्षा में सफल होने के इच्छुक हिंदी माध्यम के छात्रों के लिए एक उत्कृष्ट विकल्प बताया जा रहा है। और ऐसा क्यों है ये भी हम जानेंगे।

Sanskriti IAS
Sanskriti IAS

Sanskriti IAS के बारे में कुछ बातें

दरअसल संस्कृति IAS की स्थापना UPSC के क्षेत्र में छात्रों के बीच बेहद प्रचलित नाम अखिल मूर्ति सर ने 2020 में की थी। उन्होंने अपने अनुकूलित दृष्टिकोण, अनुभवी संकाय, व्यापक अध्ययन सामग्री और समावेशी सीखने के माहौल के साथ अपने संस्कृति आईएएस कोचिंग सेंटर को हिंदी माध्यम के छात्रों को उनकी सफलता की यात्रा पर सशक्त बनाने के लिए समर्पित किया है। बता दें की शुरुआत में वे दृष्टि आईएएस कोचिंग संस्थान से जुड़े थे लेकिन उनका कहना है की दृष्टि अब पहले जैसा नहीं रहा।

इस मामले में विस्तार से बताते हुए उन्होंने कहा की दूर-दराज़ से छात्र यहां पर कुछ बड़े शिक्षकों से पढ़ने के लिए आते हैं लेकिन यहां पर उन्हें कुछ और ही शिक्षक पढ़ा रहा होता है। जिसकी जानकारी ना तो इंस्टिट्यूट की वेबसाइट पर होती है और ना ही सोशल मीडिया पर। सोशल मीडिया पर चंद शिक्षक ही एक्टिव हैं जिनके नाम पर लाखों छात्रों को लुभाया जाता है और यहां आने पर उन शिक्षकों से उनकी बात तक नहीं होती है।

हिंदी माध्यम में UPSC की तैयारी करने वालों के लिए Sanskriti IAS क्यों है ख़ास

हिंदी माध्यम के छात्रों के लिए अनुकूलित दृष्टिकोण:

फाउंडर अखिल मूर्ति ने बताया कि संस्कृति आईएएस कोचिंग सेंटर(Sanskriti IAS Coaching Center) हिंदी माध्यम के छात्रों के सामने आने वाली अनूठी चुनौतियों को समझता है, जैसे भाषा प्रवीणता, कुछ अवधारणाओं के साथ अपरिचितता, और अंग्रेजी में आत्मविश्वास की कमी। संस्थान विशेष कोचिंग कार्यक्रम प्रदान करता है जो इन अंतरालों को पाटने और हिंदी माध्यम के छात्रों के लिए प्रभावी शिक्षण सुनिश्चित करने के लिए डिज़ाइन किए गए हैं। संस्कृति आईएएस कोचिंग सेंटर में फैकल्टी हिंदी और अंग्रेजी में धाराप्रवाह है, जिससे व्याख्यान और शंका-समाधान सत्रों के दौरान सहज संचार और समझ को सक्षम किया जा सकता है।

अनुभवी और समर्पित फैकल्टी:

संस्कृति आईएएस कोचिंग सेंटर की प्रमुख शक्तियों में से एक उच्च योग्य और अनुभवी सदस्यों की टीम है। उन्हें यूपीएससी पाठ्यक्रम और परीक्षा की बारीकियों का गहन ज्ञान है। टीम के कुछ सदस्यों की बात करें तो इनमे अखिल मूर्ति , ऐ के अरुण , रितेश जैस्वाल शामिल हैं। फैकल्टी का हर सदस्य हिंदी एवं अंग्रेजी दोनों भाषाओँ में कुशल हैं और जटिल अवधारणाओं को सरल तरीके से समझाने में माहिर हैं। यह सुनिश्चित करते हैं कि हिंदी माध्यम के छात्र विषयों को प्रभावी ढंग से समझ सकें। उनका मार्गदर्शन और सलाह हिंदी माध्यम के उम्मीदवारों के आत्मविश्वास और क्षमता के निर्माण में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं।

व्यापक अध्ययन सामग्री:

संस्कृति आईएएस कोचिंग सेंटर हिंदी माध्यम के छात्रों की विविध आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए हिंदी और अंग्रेजी दोनों में सावधानीपूर्वक तैयार की गई अध्ययन सामग्री प्रदान करता है। अध्ययन सामग्री में यूपीएससी पाठ्यक्रम द्वारा निर्धारित सभी विषयो को शामिल किया गया है। इसे इस तरिके से डिज़ाइन किया गया है ये छात्रों की वैचारिक समझ और अवधारण को बढ़ा सके। यही नहीं करंट अफेयर्स को शामिल करने के लिए इन सभी तरह के कंटेंट को नियमित रूप से अपडेट किया जाता है, जिससे छात्रों को परीक्षा की गतिशील प्रकृति के बराबर रहने में मदद मिलती है।

समावेशी शिक्षण वातावरण:

संस्कृति आईएएस कोचिंग सेंटर एक समावेशी सीखने के माहौल को बढ़ावा देता है जो हिंदी माध्यम के छात्रों की भागीदारी और विकास को प्रोत्साहित करता है। संस्थान नियमित रूप से शंका-समाधान सत्र, समूह चर्चा और मॉक टेस्ट हिंदी में आयोजित करता है ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि छात्र अपने विचारों और विचारों को व्यक्त करने में सहज और आत्मविश्वास महसूस करें। संस्कृति आईएएस कोचिंग सेंटर में सहायक और सहयोगी माहौल छात्रों को अपने साथियों से सीखने, अनुभव साझा करने और समान विचारधारा वाले व्यक्तियों का एक मजबूत नेटवर्क बनाने में सक्षम बनाता है।

पिछली सफलता और ट्रैक रिकॉर्ड:

संस्कृति आईएएस कोचिंग सेंटर से हिंदी माध्यम के छात्रों की सफलता दर संस्थान की प्रभावशीलता के बारे में बहुत कुछ बताती है। वर्षों से, कोचिंग सेंटर ने हिंदी माध्यम पृष्ठभूमि के कई सफल उम्मीदवारों को तैयार किया है जिन्होंने यूपीएससी परीक्षा में सफलता हासिल की है। संस्कृति आईएएस कोचिंग सेंटर द्वारा प्रदान की जाने वाली कोचिंग और मार्गदर्शन की गुणवत्ता के लिए उनकी उपलब्धियां सब कुछ बयान करती हैं।

निष्कर्ष:

यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा पास करने के इच्छुक हिंदी माध्यम के छात्रों के लिए सही कोचिंग सेंटर का चुनाव महत्वपूर्ण है। लेकिन पिछले कुछ वर्षों में संस्कृति आईएएस कोचिंग सेंटर(Sanskriti IAS coaching center) एक आदर्श विकल्प के रूप में उभरा है, जो एक अनुरूप दृष्टिकोण, अनुभवी संकाय, व्यापक अध्ययन सामग्री और एक समावेशी शिक्षण वातावरण प्रदान करता है। हिंदी माध्यम के छात्रों की सफलता के लिए अपनी प्रतिबद्धता के साथ, संस्कृति आईएएस कोचिंग सेंटर उम्मीदवारों को उनके लक्ष्यों को प्राप्त करने और राष्ट्र की सेवा करने के उनके सपनों को पूरा करने में सशक्त बनाने में एक अग्रणी संस्थान साबित हुआ है। छात्रों के अनुसार हिंदी माध्यम के लिए प्रयागराज में संस्कृति आईएएस सबसे बेहतर कोचिंग(Best UPSC coaching) देता है।

व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें

Please Share This News By Pressing Whatsapp Button

Facebook
Twitter
WhatsApp
Telegram
LinkedIn
Email
Print

जवाब जरूर दे

देश में अगली सरकार किसकी
  • Add your answer

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Advertisements

Live cricket updates