June 15, 2024 11:29 pm

Advertisements

हिमाचल का वर्तमान खूबसूरत स्वरूप डा.परमार की बदौलत हुआ प्राप्त – रोहित ठाकुर

♦इस खबर को आगे शेयर जरूर करें ♦

Samachar Drishti

Samachar Drishti

शिक्षा मंत्री ने की डा.परमार की जन्मस्थली में लाखों की करी घोषणायें
चन्हालग की नगरकोटि मंदिर की सड़क को पक्का करने के लिए पांच लाख रुपये देने की घोषणा

समाचार दृष्टि ब्यूरो/नाहन

शिक्षा एवं तकनीकी शिक्षा मंत्री रोहित ठाकुर ने कहा कि डा. यशवंत सिंह परमार की इसी जन्मस्थली से हिमाचल के अस्तित्व की लड़ाई लड़ी गई थी। उन्होंने कहा कि डा. परमार एक विजनरी और जन जनायक थे जिनकी बदौलत हिमाचल का यह स्वरूप हमें देखने को मिला है। उन्होंने कहा कि वर्तमान में प्रदेश के 6 जिलों में मेडिकल कॉलेज हैं और हिमाचल विकास की दृष्टि से नए आयाम स्थापित कर रहा है।

शिक्षा मंत्री रोहित ठाकुर आज शुक्रवार को चन्हालग के नगरकोटि मंदिर परिसर में आयोजित जन्माष्टमी मेले के समापन अवसर पर बतौर मुख्यअतिथि जनसभा को सम्बोधित कर रहे थे।

रोहित ठाकुर ने कहा कि प्रदेश पर 75 हजार करोड रुपए का वित्तीय बोझ है और 10 हजार करोड़ रुपये प्रदेश के कर्मचारियों की देनदारियां हैं। इन सभी संकटों से बाहर निकलने की दिशा में प्रदेश सरकार काम कर रही है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में टीचिंग स्टाफ के 12 हजार पद खाली पड़े थे और सुक्खू सरकार ने एक साथ 6000 पद भरने की स्वीकृति प्रदान की है। उन्होंने कहा कि प्रमोशन व बैचवाइज आधार पर 3000 पदों को शिक्षा विभाग में भरा जा रहा है तथा दूर दराज के क्षेत्रों में अध्यापकों को भेजा गया है।

शिक्षा मंत्री ने कहा कि राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला बसांहा जहां से डा. यशवंत सिंह परमार ने शिक्षा की शुरूआत की थी, इस स्कूल का सांईस ब्लाक का 1.50 करोड़ रुपये का प्राक्कलन तैयार है और कार्य को आरम्भ करने के लिए आवश्यक 20 प्रतिशत बजट जल्द उपलब्ध करवाया जाएगा।

उन्होंने चन्हालग की नगरकोटि मंदिर की सड़क को पक्का करने के लिए पांच लाख रुपये देने की घोषणा की। उन्होंने मेला मैदान के लिए प्राक्कलन तैयार करने के लिए कहा और बजट का प्रावधान करने का आश्वासन दिया। उन्होंने कहा कि पेयजल योजनाओं को भी दुरुस्त किया जाएगा, इसके लिए उन्होंने जलशक्ति विभाग के अधिशासी अभियंता को आदेश दिए।

शिक्षा मंत्री ने कहा कि प्रदेश में त्रासदी आई है और प्रभावित लोगों का पुनर्वास सरकार की प्राथमिकता है। उन्होंने कहा कि प्रभावितों को राहत प्रदान करने के लिए रिलीफ मैनुअल में संशोधन किया है, यदि जरूरत हुई तो और संशोधन किया जायेगा ताकि सभी प्रभावितों को राहत प्रदान की जा सके। उन्होंने कहा कि आपदा के कारण प्रदेश में 10 हजार करोड़ रुपये की क्षति हुई है और हजारों लोग प्रभावित हुए हैं।

शिक्षा मंत्री रोहित ठाकुर ने अधिकारियों के साथ अलग से बैठक करके क्षेत्र में सड़क, पेयजल योजना तथा अन्य कार्यों को नियमित करने के लिए अधिकारियों को निर्देश दिए। उन्होंने योजनावार कार्यों का विवरण अधिकारियों से प्राप्त किया और उसके लिए बजट प्रावधान करने की बात कही।

कांग्रेस जिला अध्यक्ष आनंद परमार, प्रदेश कांग्रेस सचिव दयाल प्यारी, प्रदेश कांग्रेस समिति उपाध्यक्ष राहुल ठाकुर, प्रधान ग्राम पंचायत कुलदीप, कांग्रेस सेवा दल अध्यक्ष हरदेव राणा, प्रदेश कांग्रेस सचिव राजेश्वरी शर्मा, पूर्व बीडीसी अध्यक्ष सिरमौर सिंह, प्रदेश कांग्रेस समिति सचिव अरुण मेहता, पच्छाद विधानसभा प्रभारी अजय कंवर, प्रधान मेला कमेटी गणेश शर्मा, उप प्रधान रणवीर, पृथ्वी सिंह, विक्रम ठाकुर, रणवीर सिंह ठाकुर, जिला परिषद सदस्य नीलम शर्मा सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी और पंचायती राज संस्थाओं के पदाधिकारी उपस्थित रहे।

व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें

Please Share This News By Pressing Whatsapp Button

Facebook
Twitter
WhatsApp
Telegram
LinkedIn
Email
Print

जवाब जरूर दे

[democracy id="2"]

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Advertisements

Live cricket updates