April 15, 2024 11:55 am

Advertisements

अनुशासन और देशभक्ति की भावना के लिए सभी बच्चों के लिए जरूरी हो एनसीसी- कर्नल धनीराम शांडिल

♦इस खबर को आगे शेयर जरूर करें ♦

Samachar Drishti

Samachar Drishti

कर्नल धनीराम शांडिल ने शहीद स्मारक में शहीदों को श्रद्धा सुमन किए अर्पित, पौधे का भी किया रोपण
वरिष्ठ पत्रकार संजय राजन द्वारा पच्छाद क्षेत्र के धार्मिक स्थलों पर लिखित पुस्तक का कर्नल शांडिल ने किया विमोचन

समाचार दृष्टि ब्यूरो/सराहाँ

जीवन में अनुशासन और देशभक्ति की भावना के लिए शिक्षण संस्थानों में प्रत्येक बच्चे को एनसीसी का प्रशिक्षण अनिवार्य होना चाहिए। इससे व्यक्ति में अपने देश के लिए मर मिटने का जज्बा उत्पन्न होगा। एनसीसी प्रशिक्षण लेने से बच्चों में मनोबल बढ़ने के साथ उनके शारीरिक बल में भी इजाफा होगा।

स्वास्थ्य व सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री डॉ. कर्नल धनीराम शांडिल ने यह बात सरांहा के जंजघर में यूनाइटेड वैटरन एसोसिएशन के द्विवार्षिक समारोह की अध्यक्षता करते हुए कही। उन्होंने कहा भी अनुशासन के बगैर कोई भी व्यक्ति अपने जीवन में सफलता हासिल नहीं कर सकता। उन्होंने अध्यापकों तथा अभिभावकों से बच्चों में अनुशासन सद्भाव और देशभक्ति की भावना बचपन से ही उत्पन्न करने के प्रयास करने का आह्वान किया।

कर्नल शांडिल ने समाज सेवा के क्षेत्र में पूर्व सैनिकों के प्रयासों की सराहना की। उन्होंने कहा की एसोसिएशन में बहुत से ऐसे सैनिक है जिन्होंने सन 1965, 1962 और 1971 की लड़ाइयों में भाग लिया है। उन्होंने स्वयं भी इन तीनों लड़ाईयों में भाग लिया है। उन्होंने कहा हालांकि युद्ध के परिणाम कभी भी अच्छे नहीं होते लेकिन हमें हर समय इसके लिए तैयारी रखनी भी जरूरी है।

सामाजिक न्याय अधिकारिता मंत्री ने आम जनमानस से अपील की है कि प्रदेश आपदा  के दौर से गुजर रहा है और ऐसे में प्रत्येक व्यक्ति को स्वेच्छा से आपदा राहत कोष के लिए कुछ ना कुछ अंश दान करने के लिए आगे आना चाहिए। उन्होंने कहा व्यक्ति का थोड़ा सा दान मानवता की बहुत बड़ी सेवा है।

उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू आपदा प्रभावित लोगों को राहत प्रदान करने के लिए स्वयं मोर्चे पर डटे हुये हैं।  उन्होंने कहा कि प्रदेश के विभिन्न दुर्गम क्षेत्रों में फंसे 7000 से अधिक सैलानियों को सुरक्षित बाहर निकाला गया है और उनके रहने खाने  और ठहरने की व्यवस्था भी की गई। इसके लिए मुख्यमंत्री की सराहना ना केवल देश में बल्कि विदेशों में भी हुई है।

उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री पहले दिन से ही निराश्रित और बेसहारा लोगों को आश्रय प्रदान करने के लिए संवेदनशील रहे हैं। मुख्यमंत्री ने बेसहारा बच्चों के लिए आश्रय योजना लागू की है और प्रदेश का पहला सुख आश्रय केंद्र कांगड़ा जिला की ज्वालाजी में स्थापित किया जा रहा है।
डॉ. शांडिल ने विभिन्न क्षेत्रों में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले व्यक्तियों को इस अवसर पर प्रशस्ति पत्र प्रदान किये। उन्होंने एसोसिएशन के अध्यक्ष संजय राजन द्वारा पच्छाद क्षेत्र के धार्मिक स्थलों पर लिखित पुस्तक का विमोचन भी किया।

यूनाइटेड वैटरन एसोसिएशन के अध्यक्ष संजय राजन ने मुख्य अतिथि को सम्मानित किया तथा  कार्यक्रम में भाग लेने के लिए पधारने पर आभार जताया।

राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला सराहन के छात्र-छात्राओं ने रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किया।

इससे पूर्व कर्नल शांडिल ने शहीद स्मारक में शहीदों को श्रद्धा सुमन अर्पित किए तथा पौधे का रोपण भी किया।

कांग्रेस प्रदेश सचिव दयाल प्यारी, कांग्रेस जिला अध्यक्ष आनंद परमार, सदस्य समाज कल्याण बोर्ड राजेश्वरी शर्मा, जिला परिषद सदस्य नीलम शर्मा, एसडीएम डॉ संजीव धीमान, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा.अजय पाठक, डीपीओ सुनील शर्मा, बीडीओ रमेश शर्मा व अन्य गणमान्य लोग भी इस अवसर पर उपस्थित रहे।

व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें

Please Share This News By Pressing Whatsapp Button

Facebook
Twitter
WhatsApp
Telegram
LinkedIn
Email
Print

जवाब जरूर दे

देश में अगली सरकार किसकी
  • Add your answer

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Advertisements

Live cricket updates