May 20, 2024 9:05 am

Advertisements

तीन साल में क्रियाशील हो जाएगा बल्क ड्रग पार्क – हर्षवर्धन चौहान

♦इस खबर को आगे शेयर जरूर करें ♦

Samachar Drishti

Samachar Drishti

कहा बल्क ड्रग पार्क हमारी सरकार का महत्वाकांक्षी प्रोजेक्ट

औद्योगिक घरानों को निवेश के लिए प्रदेश सरकार का खुला आमंत्रण

समाचार दृष्टि ब्यूरो/नाहन

हिमाचल प्रदेश के ऊना जिले के हरोली में लगभग 2000 करोड रुपए की लागत से निर्माणाधीन बल्क ड्रग पार्क अगले तीन सालों में बनकर तैयार हो जाएगा। यह जानकारी उद्योग, एवं संसदीय कार्य मंत्री हर्षवर्धन चौहान ने आज पांवटा साहिब के सतीवाला में ब्रांड न्यू फार्मा लैबोरेट फार्मास्यूटिकल इंडिया लिमिटेड का उद्घाटन करने के उपरांत उद्योगपतियों को संबोधित करते हुए कही।

उद्योग मंत्री ने कहा कि बल्क ड्रग पार्क में प्रदेश सरकार सभी प्रकार की मूलभूत एवं ढांचागत सुविधाओं का सृजन कर रही है। उन्होंने कहा कि पार्क में तीन रुपये प्रति यूनिट की दर से बिजली तथा उद्योग के लिए भूमि सरकार प्रदान करेगी। उन्होंने कहा कि बल्क ड्रग पार्क हमारी सरकार का महत्वाकांक्षी प्रोजेक्ट होगा जो सभी प्रकार की सुविधाओं से लैस होगा। उद्योग मंत्री ने कहा कि बल्क ड्रग पार्क में कच्चा माल भी तैयार किया जाएगा जो दूसरे देशों से आयात किया जाता है। उन्होंने उद्योगपतियों को एपीआई में निवेश के लिए आमंत्रित किया।

हर्षवर्धन चौहान ने कहा कि हिमाचल प्रदेश फार्मा उद्योग के क्षेत्र में भारतवर्ष में अपनी अलग पहचान स्थापित कर चुका है और हमारी सरकार उद्योगों को और ऊंचाइयों तक ले जाने के लिए निरंतर प्रयासरत है। उन्होंने कहा कि सोलन जिला के नालागढ़ में मेडिसिन डिवाइस पार्क की स्थापना की जा रही है। 300 करोड रुपए की लागत से निर्मित होने वाला यह पार्क देश में अपनी अलग पहचान स्थापित करेगा। इस पार्क में बड़ी-बड़ी इकाइयों की स्थापना की जाएगी। इसके लिए मंत्री ने उद्योगपतियों को अपने प्रस्ताव भेजने के लिए आमंत्रित किया।

हर्षवर्धन चौहान ने कहा कि बेशक पांवटा साहिब औद्योगिक क्षेत्र बना है लेकिन जिस तरह से इन उद्योगों का विस्तार होना चाहिए था वह नहीं हो पाया। उन्होंने कहा कि वह पांवटा साहिब में जहां नए उद्योगों को प्रोत्साहित करने के लिए प्रयास कर रहे हैं वहीं पुराने उद्योगों के विस्तार को प्राथमिकता प्रदान करेंगे। उन्होंने कहा कि बहुत सालों से पांवटा साहिब में अनेक उद्योग स्थापित हुए हैं लेकिन समय के साथ इनका विस्तार उस गति से नहीं हो पाया जो अपेक्षा की गई थी। उन्होंने कहा कि हिमाचल सरकार ने प्रदेश में निवेश को आमंत्रित करने के लिए अनेक प्रकार की सुविधाओं का सृजन किया है।

उद्योगों को स्थापित करने की बात हो या फिर पर्यटन को बढ़ावा देने की बात हो, हर संभव सुविधा उपलब्ध करने की दिशा में हमारी सरकार काम कर रही है।

उद्योग मंत्री ने कहा कि कोरोना काल में उद्योग बुरी तरह से प्रभावित हुए। कोरोना मरीजों को दवाइयां, ऑक्सीजन, वेंटीलेटर जैसी जरूरी सुविधा नहीं मिल पाई । उन्होंने इस बात पर चिंता जाहिर की कि कुछ फार्मा इकाइयों में सब स्टैंडर्ड की दवाइयां निर्मित की जाती है जिससे प्रदेश की छवि को नुकसान पहुंचता है। उन्होंने कहा कि घटिया दवाई बनाने वाली कंपनियों पर प्रदेश सरकार लगातार नजर रखे हुये है और दोषी कंपनियां के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई की जा रही है। उन्होंने कहा कि दवाइयां का सीधा संबंध व्यक्ति के जीवन से है और जीवन को लेकर किसी प्रकार का खिलवाड़ प्रदेश सरकार बर्दाश्त नहीं कर सकती।

इससे पूर्व हर्षवर्धन चौहान ने रिबन काटकर लैबोरेट फार्मास्यूटिकल इंडिया लिमिटेड का विधिवत शुभारंभ किया और कंपनी संचालकों को अपनी शुभकामनाएं दी।

फार्मास्यूटिकल कंपनी के निदेशक पराग भाटिया ने उद्योग मंत्री व अन्य अतिथियों का स्वागत किया और कहा कि लैबोरेट फार्मास्यूटिकल इंडिया लिमिटेड की स्थापना 1985 में हुई थी और आज यह कंपनी हेल्थ केयर सेक्टर में एक लीडर के तौर पर उभर कर सामने आई है। उन्होंने कहा कि देश की यह सबसे बड़ी जेनेरिक दवाइयां निर्मित करने वाली कंपनी है। उन्होंने कहा यह कंपनी प्रतिदिन दो करोड़ टैबलेट, एक करोड़ कैप्सूल, 15 लाख आई ड्रॉप तथा अन्य दवाइयां का निर्माण प्रतिदिन कर रही है। उन्होंने कहा कि कंपनी का सतीवाला में पांचवा प्लांट है। कंपनी के देश में चार अन्य प्लांट पानीपत, करनाल तथा दो प्लांट पांवटा साहिब में स्थापित किए गए हैं। उन्होंने कहा कि लैबोरेट फार्मास्युटिकल्स ने 10 हजार लोगों को परोक्ष अथवा अपरोक्ष तौर पर रोजगार प्रदान किया है। उन्होंने कहा कि हमारी कंपनी विश्व स्तर की कंपनी है जो गुणात्मक तथा अफॉर्डेबल मूल्य वाले उत्पादों का निर्माण कर रही है।

लेबोरेट फार्मास्यूटिकल लिमिटेड के प्रबंध निर्देशक संजय भाटिया ने धन्यवाद प्रस्ताव रखा। उन्होंने कहा कि कंपनी हिमाचल प्रदेश के बल्क ड्रग पार्क तथा मेडिसिन डिवाइस पार्क में निवेश करने के लिए उत्सुक है। उन्होंने प्रदेश में उद्योगपतियों को दी जा रही सुविधाओं के लिए मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खु तथा उद्योग मंत्री का आभार व्यक्त किया।

पूर्व विधायक किरणेश जंग, लेबोरेट फार्मास्यूटिकल्स इंडिया लिमिटेड के अध्यक्ष अजय भाटिया, अध्यक्ष ब्लॉक कांग्रेस समिति सीताराम शर्मा, एसडीएम गुंजित चीमा, डीपीआरओ प्रेम ठाकुर, महाप्रबंधक उद्योग साक्षी शक्ति, डीएसपी मानवेंद्र ठाकुर, अधिशासी अभियंता लोक निर्माण दलीप तोमर, तहसीलदार ऋषभ शर्मा, सदस्य सचिव उद्योग रचित शर्मा के अलावा देश के विभिन्न भागों से आए उद्योगपति तथा अन्य गनमान्य व्यक्ति इस अवसर पर उपस्थित थे।

व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें

Please Share This News By Pressing Whatsapp Button

Facebook
Twitter
WhatsApp
Telegram
LinkedIn
Email
Print

जवाब जरूर दे

[democracy id="2"]

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Advertisements

Live cricket updates