December 9, 2022 2:15 pm

Advertisements

हड़ताल छोड़ बातचीत के लिए आगे आएं पंचायती राज के कर्मचारी – वीरेंद्र कंवर

♦इस खबर को आगे शेयर जरूर करें ♦

Samachar Drishti

Samachar Drishti

कहा वार्तालाप से होगा समस्या का समाधान, सरकार कर्मचारियों से बातचीत के लिए तैयार हैं और उनकी हर समस्या का समाधान निकाला जाएगा
वीरेंद्र कंवर ने जरवा जुनेली में किया बैठक हॉल का किया उदघाट्न, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र का किया शुभारंभ

समाचार दृष्टि ब्यूरो /नाहन

ग्रामीण विकास, पंचायती राज, कृषि, मत्स्य तथा पशुपालन मंत्री वीरेंद्र कंवर ने आज जिला सिरमौर के शिलाई विधानसभा के अंतर्गत ग्राम जरवा जुनेली में आयोजित कार्यक्रम में पंचायती राज विभाग में कार्यरत कर्मचारियों से आहवान करते हुए कहा कि वार्तालाप से ही समस्या का समाधान होगा।

उन्होंने कर्मचारियों को हड़ताल छोड़ सरकार से बात करने का आवाहन किया। उन्होंने कहा कि सरकार ने पहले ही पंचायती राज के सभी कर्मचारियों के वेतन में बढ़ोतरी की है। उन्होंने कहा कि सरकार कर्मचारियों से बातचीत के लिए तैयार हैं और उनकी हर समस्या का समाधान निकाला जाएगा।

इस अवसर पर उन्होंने ग्राम पंचायत जरवा जूनेली में 20 लाख 10 हजार की लागत से बने बैठक हॉल का उद्घाटन किया। इसके उपरांत उन्होंने पंचायत में प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र व ओपीडी का शुभारंभ किया। उन्होंने बताया कि इस प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के खुलने से आसपास के क्षेत्रों के 2500 से अधिक ग्रामीण लाभान्वित होंगे।

उन्होंने बताया कि भाजपा के सत्ता संभालने से पूर्व 36000 गोवंश सड़कों पर थे लेकिन वर्तमान प्रदेश सरकार ने मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर के नेतृत्व में गौ सेवा आयोग का गठन कर काऊ सेंचुरी व गौ सदन बनाकर अब तक 24000 गोवंश को गौशाला में पहुंचाया है। उन्होंने बताया कि आने वाले समय में सड़कों पर घूम रहे गोवंश को भी गौशालाओं में पहुंचाया जाएगा।

उन्होंने बताया कि डबल इंजन की सरकार ने हिमाचल के हर क्षेत्र का विकास किया है। वर्तमान प्रदेश सरकार के प्रयासों के कारण ही हिमाचल प्रदेश धुआं रहित प्रदेश बना है। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री गृहिणी सुविधा योजना के अंतर्गत प्रदेश के 325000 परिवारों को निशुल्क गैस कनेक्शन उपलब्ध करवाए गए हैं। इसके अतिरिक्त मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर द्वारा इसी योजना के अंतर्गत तीन अतिरिक्त गैस सिलेंडर रिफिल निशुल्क देने का निर्णय लिया गया है।

उन्होंने बताया कि प्रदेश सरकार ने आयुष्मान योजना की तर्ज पर मुख्यमंत्री हिमकेयर योजना चलाई जिसके तहत प्रदेश के 544000 परिवारों को इसका लाभ मिला है।

उन्होंने बताया कि प्रदेश सरकार ने हाल ही में 125 यूनिट निशुल्क बिजली उपभोक्ताओं को देने का निर्णय लिया है जिससे हिमाचल प्रदेश के 17 लाख परिवारों को इसका सीधा लाभ मिलेगा। उन्होंने प्रदेश सरकार का धन्यवाद करते हुए कहा है कि नारी को नमन कार्यक्रम के अंतर्गत महिलाओं से राज्य के भीतर एचआरटीसी की साधारण बसों में 50 प्रतिशत ही किराया लेने के निर्णय से प्रदेश की हर महिला को इसका लाभ मिलेगा।

इस अवसर पर उन्होंने ग्राम पंचायत जरवा जूनेली में रेस्ट हाउस बनाने के लिए 11 लाख रुपए देने की घोषणा की। इसके अतिरिक्त, उन्होंने जायका के माध्यम से जरवा जूनेली ग्राम पंचायत में सिंचाई योजना बनाने के लिए स्वीकृत दी।

उन्होंने कीनू में सराय भवन के लिए 5 लाख रुपए देने की घोषणा की और जूनेली में मनोरंजन भवन बनाने के लिए 5 लाख देने की घोषणा की। उन्होंने कहा कि यदि डाहर पंचायत सभी औपचारिकताओं को पूरा करती है तो जल्द ही पंचायत में पशु औषधालय खोलने के लिए स्वीकृति दी जाएगी।

इस अवसर पर वीरेंद्र कंवर ने मुख्यमंत्री ग्राम कौशल योजना व राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के अंतर्गत स्वयं सहायता समुहों जिनमें राधे कृष्णा ग्राम संगठन गवाली, बिजट महाराज संगठन जारवा, गुगा महाराज संगठन शिलाई, महासू महाराज ग्राम संगठन बसवा, जय मां ठारी संगठन सुई डाहर व नारी शक्ति ग्राम संगठन डाहर शामिल हैं, के सदस्यों द्वारा स्थानीय स्तर पर बनाए गए उत्पादों की प्रदर्शनी का अवलोकन किया।

इस अवसर पर प्रदेश नागरिक आपूर्ति निगम के उपाध्यक्ष बलदेव तोमर ने जनसमूह को संबोधित करते हुए का गत साढ़े 4 वर्षों में शिलाई विधानसभा में सभी सरकारी कार्यालय मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर के नेतृत्व में खोले गए हैं, जिससे इस विधानसभा क्षेत्र की जनता को अब अपने किसी भी कार्य के लिए अन्य विधानसभा क्षेत्रों में जाने की जरूरत नहीं पड़ती।

उन्होंने बताया कि केंद्र सरकार की मदद से पावंटा से चैपाल के लिए 1352 करोड़ रुपए से बनने वाली सड़क का कार्य युद्ध स्तर पर जारी है जिसे आगामी 1 या 2 वर्षों में पूरा किया जाएगा जिसके बाद शिलाई विधानसभा क्षेत्र में पर्यटन को नई दिशा मिलेगी तथा इस क्षेत्र के युवाओं को रोजगार की तलाश में और प्रदेशों में नहीं जाना पड़ेगा।

उन्होंने लोगों से अपील करते हुए कहा कि पिछले साढे 4 वर्षों में शिलाई विधानसभा क्षेत्र को विकसित करने के लिए हर संभव कार्य किया गया है और आने वाले आगामी चुनावों में उनकी सरकार को इसका इनाम मिलना चाहिए।

उन्होंने कहा कि चुनाव से पहले गिरीपार क्षेत्र को जनजातीय क्षेत्र घोषित करवाने के लिए हर संभव कोशिश की जाएगी।

इस अवसर पर अध्यक्ष जिला परिषद सीमा कन्याल, बीडीसी चेयरमैन अनीता वर्मा, बीडीसी उपाध्यक्ष बलबीर चौहान, जिला उपाध्यक्ष भाजपा कुलदीप राणा, मंडल अध्यक्ष सूरत सिंह, मंडल महामंत्री भाजपा हरि ठाकुर, बीडीसी सदस्य राकेश ठाकुर व स्थानीय प्रधान आशा देवी सहित भाजपा के दर्जनों कार्यकर्ता उपस्थित रहे।

व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें

Please Share This News By Pressing Whatsapp Button

Facebook
Twitter
WhatsApp
Telegram
LinkedIn
Email
Print

जवाब जरूर दे

हिमाचल प्रदेश का कौन होगा अगला मुख्यमंत्री
  • Add your answer

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Advertisements

Live cricket updates