November 29, 2022 12:43 pm

Advertisements
Traffic Tail

मुख्यमंत्री ने सराज विधानसभा क्षेत्र के 17 स्तरोन्नत विद्यालयों का वर्चुअल माध्यम से किया शुभारम्भ

♦इस खबर को आगे शेयर जरूर करें ♦

Samachar Drishti

Samachar Drishti

कहा प्रदेश सरकार आर्थिक रूप से कमजोर मेधावी विद्यार्थियों को बाहरवीं तथा स्नातक के उपरान्त मेडिकल, इंजीनियरिंग और अन्य प्रतियोगी परीक्षाओं के प्रशिक्षण के लिए कर रही वित्तीय सहायता प्रदान

समाचार दृष्टि ब्यूरो /शिमला

मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने आज शिमला से वर्चुअल माध्यम से मण्डी जिला के सराज विधानसभा क्षेत्र में स्तरोन्नत किए गए 17 विद्यालयों का शुभारम्भ किया। इनमें राजकीय प्राथमिक पाठशाला से राजकीय माध्यमिक पाठशाला में स्तरोन्नत किए गए विद्यालय सुरांगी, काऊ, कांढी, कोठडा और मझाण शामिल हैं, जबकि राजकीय माध्यमिक पाठशाला से राजकीय उच्च पाठशाला में स्तरोन्नत किए गए स्कूलों में झौट, शालागाड, बाहवा, रैंनगलू, कल्हणी और नारायणबन तथा राजकीय उच्च पाठशाला से राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला में स्तरोन्नत किए गए स्कूलों में धरोटधार, माणी, सेरी-बटवाड़ा, बागी-भनवास, सुधराणी, लांबसाफड और चपलान्दीधार शामिल हैं।

मुख्यमंत्री ने सभी स्तरोन्नत विद्यालयों में आयोजित कार्यक्रमों को सम्बोधित करते हुए क्षेत्रवासियों को बधाई देते हुए कहा कि इससे विद्यार्थियों की पाठशाला आने-जाने की समस्या के समाधान के साथ-साथ उन्हें सुविधा भी प्राप्त होगी। उन्होंने कहा कि सभी स्तरोन्नत विद्यालयों में आवश्यकतानुसार अतिरिक्त भवनों का निर्माण किया जाएगा।

जय राम ठाकुर ने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा राज्य के हर क्षेत्र का समान एवं सर्वांगीण विकास सुनिश्चित किया गया है। प्रदेश सरकार द्वारा शिक्षा के क्षेत्र में आधारभूत ढांचे को सुदृढ़ करने के सशक्त प्रयास किए जा रहे हैं। विद्यालयों के नवनिर्मित भवनों में कई नवोन्मेष पहल की गई है। वित्त वर्ष 2022-23 के बजट में 50 राजकीय महाविद्यालयों, 50 विद्यालयों और 20 औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थानों में सौर ऊर्जा पैनल सिस्टम स्थापित किए जाने का प्रावधान किया गया है। वन विभाग तथा आयुष विभाग के सहयोग से वर्ष 2022-23 में 200 राजकीय विद्यालयों तथा 50 राजकीय महाविद्यालयों में आयुष वाटिकाओं की स्थापना की जाएगी, जिनमें दुर्लभ औषधीय पौधों तथा जड़ी बूटियों का रोपण किया जाएगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश ने शिक्षा के क्षेत्र में बहुत प्रगति की है। प्रदेश सरकार आर्थिक रूप से कमजोर मेधावी विद्यार्थियों को बाहरवीं तथा स्नातक के उपरान्त मेडिकल, इंजीनियरिंग और अन्य प्रतियोगी परीक्षाओं के प्रशिक्षण के लिए वित्तीय सहायता प्रदान कर रही है। दसवीं कक्षा में सर्वाधिक अंक प्राप्त कर 11वीं कक्षा में पढ़ रहे 100 मेधावी विद्यार्थियों को व्यवसायिक या तकनीकी कोर्स में प्रशिक्षण के लिए एक लाख रुपये की प्रोत्साहन राशि प्रदान की जा रही है।

मुख्यमंत्री के साथ कार्यक्रम में शिमला से मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव सुभासीष पंडा तथा मुख्यमंत्री के सलाहकार डॉ. आर.एन. बत्ता, निदेशक उच्च शिक्षा डॉ. अमरजीत शर्मा उपस्थित थे, जबकि सराज से वर्चुअल माध्यम से जिला परिषद सदस्य द्रोपदी देवी, पंचायत समिति अध्यक्ष शेर सिंह व देवेन्द्र रावत, मण्डल अध्यक्ष भागीरथ शर्मा, महामंत्री भीष्म ठाकुर व टिक्कम राम, भाजपा नेता गुलजारी लाल, उपायुक्त अरिदंम चौधरी, संगठन के पदाधिकारी और वरिष्ठ अधिकारी शामिल हुए।

व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें

Please Share This News By Pressing Whatsapp Button

Facebook
Twitter
WhatsApp
Telegram
LinkedIn
Email
Print

जवाब जरूर दे

चुनाव 22- हिमाचल में किसकी बनेगी सरकार
  • Add your answer

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Advertisements
Traffic Tail

Live cricket updates